शनिवार, 21 मई 2011

आशाएं आशाएं आशाएं ....

शुक्रवार, २५ फरवरी २०११ को मैंने अपना ब्लॉग बनाया था और इस पर पहली पोस्ट  

माता पिता और उनकी आशाएं थी. माँ बाप का कर्ज पुरे जीवन में उनके लिए कुछ भी करके उतरा नहीं जासकता है.यह  पोस्ट 21 मई २०११ को बी पी एन  न्यूज़ पेपर में आशाएं आशाएं आशाएं .... शीर्षक में प्रकाशित हुई है. 

8 टिप्‍पणियां:

  1. आशाएं प्रकाशित होने की बधाई आगे भी लिखते और छपते रहिये ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं आपको

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत-बहुत बधाई नेहा जी... हार्दिक शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बहुत बधाई अखबार में आपकी पोस्ट छपने पर.
    आप वाकई बहुत अच्छा लिखती हैं.

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  5. आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद !!!!!

    उत्तर देंहटाएं